बर्ड फ्लू दे चुका है दस्तक नॉनवेज खाने के हैं शौकीन तो हो जाओ सावधान

81 / 100

नई दिल्‍ली: बर्ड फ्लू (Bird Flu Spread)केंद्रीय पशुपालन, डेयरी और मत्‍स्‍य पालन मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि बर्ड फ़्लू से लोगों को चिंतित नहीं होने की जरूरत नहीं है. उन्‍होंने कहा कि कुछ कुकिंग टिप्‍स का पालन करके लोग एवियन इनफ्लुएंजा से बच सकते हैं. केंद्रीय मंत्री ने लोगों को अंडे और मीट पूर तरह से पकाकर खाने की सलाह दी है.

गिरिराज ने ट्वीट किया, “कुछ जगहों पर बर्ड फ़्लू से ज़्यादातर प्रवासी और जंगली पक्षियों के मरने की रिपोर्ट आई है. मीट और अंडे को पूरी तरह पकाकर खाएं. घबराने की कोई बात नहीं है.राज्यों को सतर्क कर हरसंभव मदद की जा रही है

उन्‍होंने हिमाचल प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, केरल और राजस्‍थान में एवियन इनफ्लुएंजा प्रसार (Avian Flu spread) को लेकर स्‍टेटस रिपोर्ट भी शेयर की. यहां 13 एपिक सेंटर (प्रभाव वाले क्षेत्रों) की पहचान की गई है.

बर्ड+फ्लू

गौरतलब है कि पिछले 10 दिनों में भारत के कई राज्यों में लाखों पक्षी मृत मिले हैं. चार राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल और राजस्थान ने बर्ड फ्लू की पुष्टि कर दी है, जिसके बाद इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कई अन्य राज्य भी अलर्ट हो गए हैं.

केरल में पिछले कुछ दिनों में 12,000 बत्तखों की मौत हुई है, जिसके बाद कर्नाटक और तमिलनाडु सावधानी बरत रहे हैं. वहीं हिमाचल में भी हजारों पक्षी मृत मिले थे, जिसके बाद जम्मू-कश्मीर और हरियाणा ने अपने-अपने राज्य में सैंपलों की जांच करनी शुरू कर दी है. बता दें कि बर्ड फ्लू या एवियन फ्लू वायरस घरेलू पोल्ट्री और दूसरे पक्षियों और जानवरों की नस्लों को संक्रमित कर सकता है.

केरल में बर्ड फ्लू का स्ट्रेन मिलने के बाद यहां पर लगभग 36,000 पक्षियों को मारा जा सकता है.

केरल में अलप्पुझा और कोट्टायम के कई हिस्सों में एवियन इंफ्लुएंज़ा का H5N8 का स्ट्रेन मिलने के बाद यहां पर लगभग 36,000 पक्षियों को मारा जा सकता है. दो जिलों में यह काम पहले ही शुरू किया जा चुका है.हिमाचल प्रदेश ने मंगलवार को राज्य में एवियन फ्लू होने की पुष्टि की. यहां पर माइग्रेट करके आने वाले गीज़ की एक नस्ल के लगभग 2,700 पक्षी मृत मिले थे. उधर, मध्य प्रदेश में 300 कौवों की मौत से बर्ड फ्लू का खतरा पैदा हो गया है. 

2021 का राशिफल कौन कौन सी राशियां बना देंगी मालामाल

Leave a Reply

Your email address will not be published.